_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"satyavijayi.com","urls":{"Home":"http://satyavijayi.com","Category":"http://satyavijayi.com/category/accident/","Archive":"http://satyavijayi.com/2017/01/","Post":"http://satyavijayi.com/bengal-bjp-eyes-movement-mamata-banerjee/","Page":"http://satyavijayi.com/satya-vijayi-truth-alone-triumphs/","Attachment":"http://satyavijayi.com/?attachment_id=30639","Nav_menu_item":"http://satyavijayi.com/1600/","Custom_css":"http://satyavijayi.com/newspaper6point5/","Wpcf7_contact_form":"http://satyavijayi.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=14","Ml-slider":"http://satyavijayi.com/?post_type=ml-slider&p=25164"}}_ap_ufee

बारामूला आतंकी हमले पर बोले राजनाथ- हमारे जवान और सेना मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं

Source: ZEE NEWS 

जम्मू कश्मीर में सेना और बीएसएफ के आसपास स्थित शिविरों पर आतंकवादियों के हमले के घंटों बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज यहां कहा कि पाकिस्तान स्थित आतंकवादी समूहों के ऐसे प्रयासों का सुरक्षा बल ‘मुहंतोड़ जवाब’’ दे रहे हैं।

उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा ‘हमारे सुरक्षा बल मुहंतोड़ जवाब दे रहे हैं।’ संवाददाताओं ने उनसे राज्य में सुरक्षा बलों पर हो रहे आतंकवादियों के हमलों के बारे में पूछा था। सिंह की इस टिप्पणी से घंटों पहले, भारी हथियारों से लैस आतंकवादियों ने बारामूला में बीएसएफ के शिविर और उससे लगे सेना के शिविर पर हमला किया था।

कश्मीर के पाकिस्तान के कब्जे वाले हिस्से में आतंकवादी शिविरों पर भारतीय सेना द्वारा लक्षित हमले किए जाने के चार दिन बाद आतंकवादियों का सुरक्षा बलों पर यह पहला बड़ा हमला है।बीती रात बारामूला में हुए इस हमले से ठीक एक पखवाड़े पहले आतंकवादियों ने यहां से 102 किमी दूर, उरी में सैन्य ब्रिगेड के मुख्यालय में हमला किया था जिसमें 19 जवान शहीद हो गए थे।

गृह मंत्री कश्मीर मुद्दे के समाधान के लिए विभिन्न वर्गों के लोगों से बातचीत करने और उनके विचार जानने के उद्देश्य से लेह और करगिल के दो दिवसीय दौरे पर हैं। लद्दाख के दौरे के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने कहा कि वह यहां विभिन्न वर्गों के लोगों से बातचीत कर क्षेत्र की समस्याओं के बारे में जानने के लिए आए हैं।

Comments

comments

Mukesh

A science nerd willing to see a day when the youth of his nation starts reading the Vedas and the Upanishads instead of Stephen Hawking's "Brief History of Time".

error: Nice Try!! No Copying :)
%d bloggers like this: