कैराना का आतंक फुरकान पुलिस मुठभेड़ में घायल

कैराना में पलायन की बड़ी वजह फुरकान पुलिस मुठभेड़ में बुरी तरह घायल हो गया है। राज्य के पुलिस महानिदेशक जावीद अहमद ने शुक्रवार को ही फुरकान पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। पुलिस ने दावा किया कि फुरकान जेल में बंद अपराधी मुकीम उर्फ काला गैंग का शूटर है। फुरकान पर हत्या, हत्या का प्रयास गुंडा टैक्स, रंगदारी समेत कुल 14 मामले दर्ज हैं। घायल फुरकान को मेरठ रेफर किया गया है।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि फुरकान कैराना में ही मुठभेड़ के घायल हुआ है। उसे चार गोलियां लगी हैं। फुरकान पुत्र फीमूद्दीन कैराना का ही निवासी है। कैराना पलायन पर मचे बवाल के दौरान भी फुरकान कारोबारियों के घरों में चिट्ठियां भेजकर उससे रंगदारी मांगता रहा था। एसपी सरकार के कार्यकाल में फुरकान को इलाके के एक कद्दावर नेता की शह मिली हुई थी, इसलिए पुलिस भी कार्रवाई करने से अबतक बचती रही थी। लेकिन राज्य में सरकार बदलने के बाद पुलिस हरकत में आ गई है।

कैराना में रगंदारी के धंधे में सिर्फ तीन गैंग की दहशत है। इनमें से सबसे ज्यादा मुकदमे फुरकान और उसके गैंग के खिलाफ थे। सूबे में बीजेपी की सरकार बनने के बाद भी कुछ दिन पहले शातिर फुरकान ने एक बार फिर रंगदारी मांगी थी। फुरकान की धमकी देने की पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी। बाद में पुलिस ने सरगर्मी से फुरकान की तलाश शुरू कर दी थी। फुरकान पर कैराना पुलिस स्टेशन में ही 5 मुकदमे दर्ज हैं।

Source: NBT

Comments

comments