जब सातवीं कक्षा के छात्र क्षितिज के घर आया पीएम मोदी का फोन : अब मिलेगी क्षितिज के सपनों को नयी उड़ान

जब सातवीं कक्षा के छात्र क्षितिज के घर आया पीएम मोदी का फोन : अब मिलेगी क्षितिज के सपनों को नयी उड़ान

काशी के बाल वैज्ञानिक क्षितिज पांडेय के रिसर्च प्रोजेक्ट का विवरण प्रधानमंत्री कार्यालय ने मांगा है। इसके लिए क्षितिज के घर पीएमओ से शनिवार को फोन आया।

परमाणु हथियारों को निष्क्रिय करन समेत चार परियोजनाओं पर शोध कर रहे क्षितिज ने हाल में ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलकर उन्हें इसकी जानकारी दी थी।

सुसुवाही निवासी बीएचयू के टेक्नीशियन राहुल पांडेय के पुत्र क्षितिज ने अपनी थ्योरी से प्रधानमंत्री को प्रभावित किया है। 18 सितंबर को डीरेका के गेस्टहाउस में मुलाकात के दौरान पीएम ने सबसे अधिक 10 मिनट का समय सिर्फ क्षितिज को ही दिया था।

पीएम ने रविवार को क्षितिज का भी बखान किया

बीएचयू के केंद्रीय विद्यालय में सातवीं कक्षा के छात्र क्षितिज के मुताबिक वह एक ऐसी एनर्जी विकसित करने में लगा है जिसके जरिए परमाणु हथियारों को भी निष्क्रिय किया जा सकेगा। इसे उसने नाम दिया है डेथरे मशीन।

इसके अलावा तीन अन्य प्रोजेक्ट ‘मुक्त ऊर्जा’, ‘वायु दूत’ और ‘रोबोट विद फीलिंग’ पर भी उसका काम चल रहा है। क्षितिज के मुताबिक पीएम ने भविष्य में इन कामों को बढ़ाने के लिए उसे लैब मुहैया कराने का भरोसा दिलाया है।

‘मन की बात’ में पीएम ने रविवार को क्षितिज का भी बखान किया। क्षितिज ने बताया कि पीएमओ से भी उससे फोन पर प्रोजेक्ट का विवरण मांगा गया है।

सूत्र : अमर उजाला

Comments

comments