अखिलेश यादव ने दी ऊल जलूल सफाई, सरकारी बंगले में तोड़-फोड़ पर बोले, ‘ये बीजेपी की साजिश है’

सरकारी बंगले को लेकर अखिलेश यादव सफाई देने मीडिया के सामने आए। राज्यपाल राम नाईक ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर मामले को गंभीर बता जांच के निर्देश दिए थे, जिसके बाद सपा अध्यक्ष मीडिया से मुखातिब हुए।

इस दौरान उन्होंने बंगले को लेकर सरकार पर साधा निशाना, उन्होंने कहा, बंगले में सीएम के ओएसडी गए थे, उन्होंने कहा कि सरकार गिनती बताए, सारी टोटी वापस कर दूंगा।

उन्होंने कहा कि मैंने उस घर को अपने तरीके से बनवाया था। उन्होंने मीडिया से सवाल करते हुए पूछा, आप लोगों को पता है टोटी किसने निकाली?

सपा मुखिया ने कहा कि जो मेरी चीज थी, वो मैं लेकर गया। मशीनें हमारी हैं, हम ले गए। अगर सरकारी दस्तावेज में ये सभी चीजें दर्ज हैं तो मुझे दिखाएं। उन्होंने कहा कि सरकार कागज से चलती है बातों से नहीं चलती।

मीडिया को संबोधित करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि सपा को बदनाम करने के लिए ये सब सरकार के इशारे पर हो रहा है। उन्होंने कहा बीजेपी की दिल बहुत छोटा है। स्विमिंग पूल को पाटे जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि स्विमिंग पूल कहां था ये बताइए ?

इस दौरान उन्होंने कहा कि गवर्नर साहब अच्छे इंसान हैं। लेकिन वो संविधान के हिसाब से नहीं चल रहे हैं, उनके अंदर संघ की आत्मा है।

उन्होंने कहा कि बीजेपी ये सब इसलिए कर रही है। क्योंकि हमने उन्हें उपचुनाव में हार का मुंह दिखाया है। उन्होंने इशारे-इशारे में आगमी लोकसभा चुनाव की भी बात कहीं। उन्होंने कहा, ‘समाजवादी पार्टी 2019 में होने वाले चुनाव जी-जान से लड़ेगी, प्रधानमंत्री कोई भी हो, लेकिन अगला प्रधानमंत्री बीजेपी का नहीं बनने देंगे’।

Comments

comments