अशोक गेहलोत ने इस शर्मनाक बयान में किया राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द और दलितों का अपमान !

लोकसभा चुनाव के दौरान चल रहे विवादित बयानों की कड़ी में अब कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत का नाम भी जुड़ गया है। सीएम गहलोत ने यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया है कि राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद को बीजेपी की ओर से इसलिए चुना गया ताकि गुजरात चुनाव से ठीक पहले उनकी जाति के मतदाताओं को खुश किया जा सके।

गहलोत ने कहा कि गुजरात चुनाव में फायदा उठाने के लिए बीजेपी ने रामनाथ कोविंद को राष्‍ट्रपति बनाया ताकि कोली समुदाय को अपने पाले में लाया जा सके। उन्‍होंने कहा, ‘क्‍योंकि गुजरात के चुनाव आ रहे थे। वे घबरा चुके थे कि हमारी सरकार गुजरात में नहीं बनने जा रही है…मेरा ऐसा मानना है कि रामनाथ कोविंदजी को बनाया (राष्‍ट्रपति) जातीय समीकरण बैठाने के लिए और आडवाणी साहब छूट गए।’

अशोक गेहलोत के पुत्र वैभव इस बार जोधपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। उनके पिता का ये बयान चुनाव में उनके लिए हार का कारण बन सकता है । 

बता दें कि राष्‍ट्रपति कोविंद दलित समुदाय में आने वाले कोली जाति से ताल्‍लुक रखते हैं। राहुल गांधी के राइट हैंड कहे जाने वाले गहलोत के इस बयान के बाद अब राजनीति गरम हो सकती है। गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के बीच विवादास्पद बयानों को लेकर चुनाव आयोग की सख्ती के बावजूद रैलियों में नेताओं के विवादित बयानों का सिलसिला जारी है। कांग्रेस नेता और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू ने बिहार के कटिहार में एक विवादित बयान दिया है। सिद्धू ने जनसभा में मुस्लिम समुदाय से एकजुट होकर कांग्रेस के पक्ष में मतदान करने की अपील की।

Comments

comments