इस तरह कॉंग्रेस डाल रही है राम मंदिर के काम में रोड़ा ?

बीते तीन दशकों से भारत की राजनीति में जो मुद्दा हर वक्त सुर्खियों में रहा वह है, वह राम मंदिर का मसला है। जिसको लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने राजस्थान के अलवर रैली में चौंकाने वाली बात कही।

लंबे वक्त के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने राम मंदिर को लेकर अपना बयान दिया है, मोदी ने अलवर में रैली को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस लगातार राम मंदिर के मसले पर टांग फसाने का काम कर रही है।

नरेंद्र मोदी ने कहा कि कांग्रेस अपनी रणनीति के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट के वकीलों को राज्यसभा में भेजती है, और उनके जरिए राम मंदिर को बनाने से रोकने के लिए न्यायाधीशों पर दबाव बनाती हैं।

मोदी यहीं नहीं रुके और मोदी ने यह भी कहा कि कांग्रेस के वकील ही राम मंदिर के खिलाफ सुनवाई को टालने के लिए कहते हैं। और यही कांग्रेस बीते दो दशक से राम काल्पनिक है, यह कहती रही है।

ऐसे में एक बात तय हैं कि कांग्रेस की मंशा राम मंदिर को लेकर दोहरी है। लिहाजा राजनीतिक जानकारों का मानना है कि कांग्रेस की दोहरी राजनीति उनके लिए घाटे का सौदा साबित हो सकती हैं ,और ऐसे में उनके हाथ से हिंदू वोट बैंक छिटक सकता है।

Comments

comments