जोधपुर: हारने के डर से हताश कांग्रेस कर रही मुर्खतापूर्ण प्रचार

राजस्थान के जोधपुर से लोकसभा चुनाव लड़ रहे अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत शुरू से ही अपने प्रतिद्वंद्वी गजेन्द्र सिंह शेखावत के मुकाबले कमजोर नजर आ रहे थे। अशोक गहलोत के अनेक प्रयासो के बाद भी वैभल की स्थिति में कुछ खास सुधार नही दिख रहा जबकि चुनाव के लिए बस दो ही दिन बचे हैं।

ऐसे में कुछ हताश कांग्रेस समर्थक निम्न स्तरीय हरकतों पे उतर आये हैं। यूट्यूब और दूसरे सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर पर एक फर्जी विडियो चलाया जा रहा है जिसमे ऐसा दिखाया जा रहा है कि गजेन्द्र सिंह शेखावत अपने समर्थकों से वैभव के लिए वोट करने को कह रहे हैं। यह विडियो पूर्णतः नकली है।

चुनावी जानकारों के मुताबिक इस लड़ाई में वैभव गहलोत के मुकाबले गजेन्द्र सिंह शेखावत कई आगे है। एक तरह से इस बार गजेन्द्र सिंह शेखावत की लड़ाई वैभव गहलोत से न होकर उनके पिता अशोक गहलोत से थी। यूं तो अशोक गहलोत ने कोई कसर नहीं छोड़ी। लगभग पूरे चुनाव प्रचार के दौरान ही जोधपुर के गली कुंचो में घुमते रहे बेटे के लिए। पर जनता का विश्वास गजेन्द्र सिंह शेखावत के साथ दिख रहा है। लोगों मे वैभव गहलोत के प्रति विश्वास का अभाव दिख रहा है।

भाजपा की लहर का पता तो तब ही चल गया था जब पूरा शहर अमित शाह के रोड शो में उमड़ पड़ा था। एक तरफ जहां गहलोत जातिय समीकरणों को साधने मे लगे रहे वहीं गजेन्द्र सिंह शेखावत का प्रचार “सबका साथ सबका विकास” के मंत्र पर आधारित रहा। इसी कारण गजेन्द्र सिंह शेखावत के साथ सभी समाज खड़े दिख रहे हैं।

जोधपुर चुनाव में बस दो दिन बचे हैं और ऐसे में सूत्रों के मुताबिक अशोक गहलोत अपने हर पहचान वाले को फोन लगा रहे हैं। जोधपुर जिले के सभी सरपंच और जनप्रतिनिधियो को काॅल कर कर के अंतिम समय में कुछ करिश्मा करने के प्रयास में लगे हैं मुख्यमंत्री। सूबे के लोगों का कहना है गहलोत को इतनी लाचार अवस्था में कभी नहीं देखा।

Comments

comments