जोधपुर में कांग्रेस के दांत खट्टे करने की तैयारी में भाजपा के गजेंद्र सिंह शेखावत

जोधपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में खुद को सर्वश्रेष्ठ साबित करने की जंग भाजपा और कांग्रेस के बीच छिड़ा हुआ है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के लिए यह प्रतिष्ठा का विषय बन गई है। उन्होंने अपने बेटे वैभव गहलोत की जीत सुनिश्चित करने के लिए अपनी सारी ताकत झोंक दी है जबकि प्रतिद्वंद्वी भाजपा सरकारी तंत्र के “दुरुपयोग” का आरोप लगा कर उन्हें घेरने की कोशिश मे है।

इस सीट पर जीत सुनिश्चित करने के लिए भाजपा प्रत्याशी गजेंद्र सिंह शेखावत जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं। मतदाताओं की राय में इस सीट पर असली लडाई गजेन्द्र सिंह शेखावत और मुख्यमंत्री गहलोत के बीच है। भाजपा चुनाव के लिए राष्ट्रवाद पर निर्भर है जबकि गहलोत अपनी प्रतिष्ठा एवं सम्मान को बचाने के लिए प्रयास में हैं।

भाजापा अपने “मिशन 25” योजना को दोहराने के लिए जी तोड़ मेहनत कर रही है। पार्टी ने 2014 में सभी सीटें जीती थी। स्थानीय लोगों का कहना है कि गहलोत सभी समुदायों के नेताओं के साथ मुलाकात कर रहे हैं और जातिवादी राजनीति कर अपने बेटे को जीताना चाहते हैं।

शेखावत का कहना है कि, “प्रतिबद्ध वोट बैंक ने पिछले चुनावों में भी कांग्रेस का साथ दिया था लेकिन भाजपा जीती।” मौजूदा सांसद ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री अपने बेटे की जीत के लिए ”अपनी पूरी ताकत का इस्तेमाल” और “सरकारी तंत्र का दुरुपयोग” कर रही है।

Comments

comments