नामदार बनाम कामदार: जोधपुर में भाजपा गिना रही काम, कांग्रेस दिखा रही नेताओं की तस्वीरें

राजनीति में अक्सर यह कहा जाता है कि पार्टीओ के प्रचार से उनके विचारों का पता चलता है। अगर इसे सच मान कर चले तो क्या राजस्थान के जोधपुर लोकसभा क्षेत्र के लिए कांग्रेस का प्रचार, उनके परिवारवाद को दर्शाता है?

दरअसल, जोधपुर में कांग्रेस और भाजपा के प्रचारो मे काफी असमानताएं देखने को मिल रही है। जहां भाजपा का जोर उनके किए गए कामों पर मालुम हो रहा है तो वहीं कांग्रेस गहलोत परिवार पर जोर देता हुआ नजर आ रहा है। जोधपुर से कांग्रेस के प्रत्याशी है वरिष्ठ नेता और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत। जबकि भाजपा के प्रत्याशी इस सीट से है गजेन्द्र सिंह शेखावत।।

गजेन्द्र सिंह शेखावत के चुनावी पोस्टरो मे मोदी सरकार द्वारा जोधपुर की जनता के लिए किये गये कामो के बारे में विवरण दिया गया है। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस के पोस्टरो मे राज्य सरकार द्वारा किये गये कामो के विवरण के स्थान पर राहुल गांधी तथा अशोक गहलोत आदि नेताओं के तसवीरो को ही महत्व दिया गया।


ऐसे में यह सवाल उठना स्वाभाविक है कि क्या कांग्रेस की सरकार ने राजस्थान में ऐसे कोई काम नहीं किये जिसका विवरण वह जन सामान्य के सम्मुख रख सके? भाजपा के गजेन्द्र सिंह शेखावत अपने और मोदी सरकार के कामो पर विश्वास रखते हुए इस बार चुनावी मैदान में उतरेगें। अपने हर पोस्टर में शेखावत ने मोदी सरकार के विभिन्न उपलब्धियों को गिनाया है।


राजनीतिक जानकारों के मुताबिक अपने नायाब और ग्यान वर्धक प्रचारो के दम पर गजेन्द्र सिंह शेखावत एक और बार जोधपुर के सांसद बनने की तरफ अग्रसर है।

Comments

comments