मराठा आंदोलन के दौरान नदी में कूद कर युवक ने की खुदकुशी, आंदोलन के भड़कने की आशंका

महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में मराठा आरक्षण आंदोलन के दौरान एक युवक ने गोदावरी नदी में कुद कर खुदकुशी कर ली है। इस घटना के बाद अब इस आंदोलन के और भड़कने की आशंका जताई जा रही है।

जानकारी के मुताबिक घटना औरंगाबाद के गंगापुर की है, जहां मराठा समाज के लोग आरक्षण की मांग को लेकर ठिय्या आंदोलन कर रहे थे। उस वक्त काकासाहेब शिंदे (29 वर्ष) नाम का युवक जो कन्नड इलाके का रहने वाला था गोदावरी नदी में कुद गया।

वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने उसे बाहर निकाला और नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। घटना के बाद वहां पुलिस का बंदोबस्त बढ़ा दिया गया है।

आपको बता दें कि मराठा समाज जालना में पिछले 4 दिनों से ठिय्या आंदोलन कर रहा है। मराठा आंदोलन के दौरान मौत होने की यह पहली घटना है जिससे मराठा समाज में काफी रोष है।

वहीं इस घटना से जुड़ी ताजा जानकारी के मुताबिक काकासाहेब के घरवालो नें शव को लेने से मना कर दिया है। इसके अलावा मराठा समाज ने अपनी कुछ मांगे भी रखी हैं जिसमें पीड़ित परिवार को 50 लाख का मुआवजा तो है ही साथ ही साथ महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर केस दर्ज करने की भी बात रखी गई है।

मराठा समाज ने रखी ये मांगें
– काकासाहेब के परिवार वालों को 50 लाख का मुआवजा मिले
– काकासाहेब को हुतात्मा घोषित करें
– मुख्यमंत्री पर खुदकुशी को उकसाने का मामला दर्ज किया जाए
– आरक्षण तुरंत लागू किया जाए

जानकारी के मुताबिक सोमवार को बुलढाणा में भी मराठा समाज ने आज आंदोलन किया, मंगलवार से मराठा समाज कोल्हापुर में ठिय्या आंदोलन की शुरुआत करने वाला है। अगर आरक्षण को जल्द से जल्द लागू नहीं किया गया तो आंदोलन हिंसक रूप ले सकता है। ऐसा सकल मराठा समाज के लोगों ने धमकी दी है।

Comments

comments