अचानक राजस्थान में सटोरियों की पहली पसंद बनी भाजपा ! उलट गया कांग्रेस का अनुमान

एक दिन पहले तक राजस्थान में कांग्रेस की जीत बताने वाले सटोरियों का गणित गुरुवार को अचानक कांग्रेस के उलट बीजेपी के पक्ष में बदल गया। बता दें कि राष्ट्रीय स्तर पर सट्टा बाजार में बुधवार तक छत्तीसगढ़ को छोड़ मध्य प्रदेश व राजस्थान में कांग्रेस के पक्ष में खाईवाली चल रही थी।

देश में सबसे बड़े नेटवर्क वाले फलोदी सट्टा बाजार की मानें तो बुधवार तक के बदलाव के संकेत मिले और गुरुवार सुबह तक तो तस्वीर पूरी तरह बदल गई। राजस्थान में फलोदी, सीकर और नोखा प्रमुख सट्टा बाजार हैं। फलोदी के एक बुकी ने बताया कि एक दिन पहले तक कांग्रेस के लिए स्पष्ट जीत की उम्मीद कर रहे थे, लेकिन हमारे राष्ट्रीय स्तर पर फैले नेटवर्क ने बुधवार तड़के अचानक बदलाव के संकेत दिए। यहां यह जानना जरूरी है कि सट्टा बाजार में कम कीमत जीत का संकेत देती है, जबकि उच्च कीमत हार का।

उलट गया कांग्रेस का अनुमान

प्रदेश में बुधवार रात 2.55 तक फलोदी का सट्टा बाजार अपने आकलन में कांग्रेस को सबसे बड़ी पार्टी बता रहा था। कांग्रेस को 130-140 सीटें मिलने का अनुमान जताया जा रहा था, जबकि बीजेपी को 40-55 सीटों में सिमटा दिया गया था। वहीं, दोनों पार्टियों द्वारा सभी 200 सीटों पर टिकटों का वितरण करने के बाद बुधवार को सट्टा बाजार में हलचल होने लगी थी, शाम होते-होते हड़कंप मचने लगी। गुरुवार सुबह तक तो पूरा नजारा बदला बदला दिख रहा था।जो सट्टा बाजार एक दिन पहले कांग्रेस की जीत पर बड़ा दांव खेलने की तैयारी कर रहा था, वह अब भाजपा पर दांव लगाता दिख रहा है। सट्टा बाजार बीजेपी को 125-135 सीटें दे रहा है, जबकि कांग्रेस को उसने 65-75 सीटों तक समेट दिया है। बुकीज का कहना है कि ज्यों-ज्यों वोटिंग की तारीख नजदीक आती जाएगी, बीजेपी इन सीटों से पार निकल जाए तो कोई आश्चर्य नहीं।

Disclaimer: The views and opinions expressed in this article are those of the authors and do not necessarily reflect the official policy or position of SatyaVijayi.

Comments

comments