पुत्र प्रेम ने कर दिया मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को गली गली घुमने को मजबूर?

कया बेटे के लिए प्रेम ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को गली गली घुमने को मजबूर कर दिया है? ऐसा सवाल इस लिए उठ रहा है क्योंकि जोधपुर की जनता ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को एक ऐसे अंदाज में देखा जैसा उन्हें कभी किसी ने नहीं देखा था।

चुनाव प्रचार समाप्त होने से दो दिन पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को जोधपुर शहर में कांग्रेस प्रत्याशी अपने बेटे वैभव के समर्थन में तूफानी जनसंपर्क अभियान चलाया। अपने चुनावी अभियान में गहलोत ने एकदम अलग तरीका निकाला। गहलोत ने बड़ी जनसभाओं के स्थान पर शहर के प्रत्येक स्थान पर लोगों से मुलाकात करने को तवज्जों प्रदान की। प्रत्येक सभा में पंद्रह मिनट से ज्यादा समय उन्होंने कहीं नहीं लिया।

बरसों से जोधपुर में गहलोत अपने लिए चुनाव प्रचार करते रहे है, लेकिन यह पहला अवसर है कि वे इस तरीके से लोगों से संवाद कर रहे है।

अशोक गहलोत के पुराने क्षेत्र जोधपुर से इस बार उनके बेटे वैभव गहलोत चुनाव लड़ रहे हैं। पर जानकारों के अनुसार भाजपा प्रत्याशी गजेंद्र सिंह शेखावत के सामने वैभव की हालत कमजोर है और इसीलिए मुख्यमंत्री अपना पूरा जोर लगा रहे हैं। एक तरह से यह अब अशोक गहलोत की प्रतिष्ठा का प्रश्न बन गया है।

एक के बाद एक कर पचास से अधिक स्थान पर जनसंपर्क करने का गहलोत का यह अभियान सुबह साढ़े नौ बजे एयर पोर्ट के निकट स्थित पाबूपुरा से शुरू हुआ। सभी स्थान पर गहलोत इसी अंदाज में लोगों से मुलाकात करतेे हुए शहर के लोगों से वैभव को समर्थन देने का आव्हान करते हुए आगे बढ़ते गए।

Comments

comments